रविवार, 12 मार्च 2017

सभी रंग अपने है

सभी रंग अपने है
वो लाल हो ,केसरिया हो
हरा हो या नीला
बैगनी हो या पीला
या जो भी हो
जिसे जो पसंद
वो लगालो
दूसरे को पसंद
तो उसपर भी डालो
पर
उसमें कोई खतरनाक चीज न हो
और न इरादे हो खतरनाक
जी हां खूब खेलो रंग और गुलाल
पर न हो धरती खून से लाल
ऐसा समाज बना लो
जी हां
ये इतने सारे रंगों का नाम ही
हिंदुस्तान है
जहा एक ही रंग है वो मिस्र ,अफगानिस्तान
और पाकिस्तान है ।
क्या वो एक रंग पसंद है
या ये हिंदुस्तानियत का रंगारंग
आप गले मिलो
पर नफरत के खंजर को फेंक कर आओ
हां आओ सभी रंगों को मिला कर होली मनाओ